होली के सूखे आँसू  (dried tears of Holi)

 

सोच रही हूँ इस बार
लातूर की होली कैसी होगी?

सुना है दो रोज़ पहले, जल दिवस पर,holi ke rang
सरकार ने धारा एक सौ चव्वालिस* लगाई थी..
डर रही थी कि कहीं पानी के टैंकर के पास
प्यासे लाचारों की कोई टोली बवाल ना मचा दे !
मैं भी सूखे आँसू रोई..
मेरे ही बच्चे मेरे ही जल के लिए तड़प रहे थे
पर आज होली है
आज तो पूरे भारत में
बावलों की टोलियाँ पानी से खेलती हैं
आज, लातूर की होली कैसी होगी?
चलो एक दिन ही सही
कम से कम होली पर इंसान विभिन्न रंगों से खेलता है
मैं तो रोज़, प्रकृति के हज़ारों रंग
उस पर न्योछावर करती हूँ
पर वो अनजान सिर्फ़ काले रंग का धुआँ
मुझ पर फेंकता जाता है
दोपहर का वक़्त है
सब थक कर घरों में सो रहे होंगे
मेरे तन पर कई रंग और
अनेक प्लास्टिक पैकेट बिखरे हुए हैं
काश ये फूल होते
ख़ुशी या माहतम के
मुझ में समा जाते
— धरती माँ–
(मनीष श्रीवास्तव)
————————————————–
English translation…
I am wondering, this year–
How would they celebrate Holi in Latur?
2 days back on the world water day,
Government enforced section 144*
Fearing that thirsty mob may go wild
around limited water supplies
I also cried dried tears
for these are my children suffering draught
Well, today’s Holi
Whole India will gather in mobs
And go wild with water and colours
Wonder, how would they celebrate in Latur?
 …
Even if its just for a day,
Atleast they celebrate various colours of life
All through the year,
I offer so many from nature
And they give me back just one
Black carbon smoke…
On Holi afternoon,
They might be tired & sleeping
Leaving so many colours
and plastics on my body
Wish they had left flowers
of joy or funeral
and let those dissolve in me
————————————————-
 …
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s